UP Mukhyamantri Abhyudaya Yojana | मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना उत्तरप्रदेश 2023, फ्री कोचिंग

UP Mukhyamantri Abhyudaya Yojana 2023: उत्तर प्रदेश में ऐसे हजारों युवा हैं जो योग्य हैं। जिनके अंदर हौसला है, जो अपनी गरीबी के दुष्चक्र को तोड़ना चाहते हैं, जो खुद को साबित करना चाहते हैं। लेकिन आर्थिक तंगी के कारण विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी का खर्च वह नहीं उठा पाते। ऐसे बच्चों की हौसला अफजाई के लिए उत्तर प्रदेश सरकार एक योजना लेकर आती है।

इस योजना का नाम है मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना। इस योजना की शुरुआत 10 फरवरी 2021 को की गई। 24 जनवरी। जी हां, यानी उत्तर प्रदेश का स्थापना दिवस। इस योजना का मुख्य उद्देश्य ऐसे अभ्यर्थियों की सहायता करना है जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं अर्थात उन्हें मुफ्त कोचिंग की सुविधा देना है। 

मुख्य बिंदु

UP Mukhyamantri Abhyudaya Yojana 2023 Registration Overview

योजना का नाममुख्यमंत्री अभ्युदय योजना 2023 (UP Mukhyamantri Abhyudaya Yojana)
योजना लॉन्च तारीख 10 फरवरी 2021 को
किसने शुरू कीसीएम योगी आदित्यनाथ जी द्वारा
लाभार्थीप्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे मेधावी छात्र
योजना का उद्देश्यगरीब छात्रों को मुफ्त में कोचिंग सुविधा देना
रजिस्ट्रेशन Active!
आधिकारिक वेबसाइटabhyuday.up.gov.in

उत्तर प्रदेश अभुदय योजना (UP Mukhyamantri Abhyudaya Yojana)क्या है?

आज हम बात करने जा रहे हैं उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई एक इनोवेटिव पहल के बारे में जिसका नाम है अभ्युदय। चलिए जानते हैं कि आखिर अभ्युदय योजना है क्या? उत्तर प्रदेश राज्य के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने 24 जनवरी को एक स्टेट वाइड फ्री कोचिंग फैसिलिटी का एनाउंसमेंट किया है। इस योजना का नाम रखा गया है अभ्युदय। 

इस योजना के अंतर्गत अलग अलग कॉम्पटीटिव एग्जाम्स जैसे आईआईटी, जेईई, नीट, सीडीएस, एनडीए और आईएएस की तैयारी कर रहे स्टूडेंट्स को फ्री में कोचिंग प्रोवाइड कराई जाएगी। इस योजना को इंप्लीमेंट करने के लिए पहले से बनी एजुकेशनल इंफ्रास्ट्रक्चर जैसे कॉलेज और यूनिवर्सिटी का यूज किया जाएगा।

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना उत्तरप्रदेश 2023

इस पूरी योजना की निगरानी के लिए एक पैनल भी बनाया जाएगा। शुरुआती दौर में इसे अभी केवल राज्य के 18 मंडलों में ही शुरू किया जाएगा। जहां तैयारी करने वाले बच्चों को वर्चुअली और फिजिकली ट्रेनिंग दी जाएगी। 

इस योजना के अंतर्गत किन बच्चो को चुना जाएगा?

आइए देखते हैं UP Mukhyamantri Abhyudaya Yojana के अंदर बच्चों को कैसे चुना जाएगा। इस योजना का फायदा उठाने के लिए स्टूडेंट्स को एक टेस्ट देना होगा। यह टेस्ट हर साल अगस्त के महीने में कराया जाएगा। इनमें चुने गए बच्चों को स्टाइपेंड के रूप में दो हज़ार रुपए करीब पाँच महीनों तक दिए जाएंगे, जिससे कि वह शिक्षा से जुड़े समानों को जुटा सकेंगे। 

अब बात यह आती है कि इस टेस्ट में कितने बच्चों को सिलेक्ट किया जाएगा। तो इसका जवाब भी मैं दे देता हूं। इस टेस्ट में करीब 300 बच्चों को सेलेक्ट किया जाएगा। जिसमें से 100 बच्चों को आईएएस और पीसीएस के एग्जाम्स की फ्री कोचिंग दी जाएगी और सीडीएस, एनडीए, आईआईटी जेईई और नीट के लिए 50 50 बच्चों को सिलेक्ट किया जाएगा। 

हम सब के दिमाग में यह क्वेश्चन तो ज़रूर आ रहा होगा कि फ्री कोचिंग में बच्चों को गाइड या कहीं तो पढ़ाएगा कौन? आईएएस और पीसीएस की तैयारी करने वाले स्टूडेंट्स को क्वालिफाइड आईएएस और पीसीएस ऑफिसर्स गाइड करेंगे और वही एनडीए और सीडीएस के एग्जाम्स के लिए चुने गए बच्चों की तैयारी सैनिक स्कूल्स के द्वारा कराई जाएगी और आईआईटी जेईई और नीट के बच्चों के लिए अलग क्लासेस रहेंगी।

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना सिलेबस देखें (Download Syllabus)

चाहे तो आप योजना की अधिकारिक वेबसाइट में जाकर होमपेज से सिलेबस के विकल्पके नीचे, सभी के सिलेबस डाउनलोड करने का ऑप्शन मिल जायेगा। आसानी के लिए हमने सभी परीक्षाओ के Syllabus का डायरेक्ट डाउनलोड लिंक नीचे दे दिया है।

U.P. Public Service Commission Syllabus DownloadClick Here
Union Public Service Commission Syllabus DownloadClick Here
Indian Forest Services Syllabus DownloadClick Here
National Defence Services Syllabus DownloadClick Here

यूपी मुख्यमंत्री अभ्युदय फ्री कोचिंग योजना पात्रता की जानकारी (Eligibility Criteria)

उत्तर प्रदेश राज्य के छात्रों को इस मुफ्त कोचिंग योजना का लाभ पाने के लिए निम्नलिखित पात्रता शर्तों की जाँच करनी चाहिए और उनके बाद समय रहते ऑनलाइन आवेदन करना चाहिए:

  1. पहली शर्त है कि आवेदक का स्थाई निवास उत्तर प्रदेश राज्य में होना चाहिए।
  2. आवेदक गरीब परिवार से होना चाहिए, जिन छात्रों की आर्थिक स्थिति कमजोर है और वे प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने में सक्षम नहीं हो सकते हैं।
  3. यह योजना केवल उन छात्रों के लिए है जो प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं।
  4. आवेदन केवल ऑनलाइन मान्य है, इसके लिए विशेष ध्यान देना चाहिए।
  5. इस योजना का लाभ केवल एक बार ही प्राप्त किया जा सकता है।

मुख्यमंत्री अभुदय योजना चालु करने का क्या कारण है?

यूपी सरकार ने इस Mukhyamantri Abhyudaya Yojana को शुरू क्यों किया? मतलब इसके पीछे का रीजन क्या है? पिछले साल लॉकडाउन के समय जब कोटा में पढ़ने वाले 30,000 बच्चों को वापस उत्तर प्रदेश लाया गया था, तब उसी वक्त मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने यह वादा किया था कि आने वाले समय में किसी भी बच्चे को अपना राज्य छोड़कर बाहर के राज्य में कोचिंग करने के लिए जाने की कोई ज़रूरत नहीं होगी। इसी वादे को पूरा करते हुए योगी आदित्यनाथ जी ने इस योजना का लॉन्च यूपी दिवस के दिन किया है। 

इसी के साथ बच्चों के कौशल को और प्रमोट करने के लिए यूपी सरकार ने यूपी गौरव सम्मान की भी शुरुआत की है। हर साल 3 से 5 उन नागरिकों को यह सम्मान दिया जाएगा जिन्होंने राज्य के लिए कुछ महत्वपूर्ण योगदान दिया होगा या राज्य को देश और विदेश में एक नई पहचान दिलाई होगी। इस साल समाज कल्याण विभाग ने करीब 1,00,083 हज़ार युवाओं को ढूंढ निकाला, जिन्होंने अपने फील्ड में एक्सेल किया था और उन्हें स्कॉलरशिप भी दी गई थी।

मुख्यमंत्री अभुदय योजना के अंतर्गत किस चीज़ की पढाई होगी?

योजना के तहत लगभग सभी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करवाई जाएगी। जैसे आईएएस, पीसीएस, एसएससी, बैंकिंग, एनडीए, सीडीएस, नीट, जेईई और पैरामिलिट्री फोर्सेस से संबंधित प्रतियोगी परीक्षाएं। शुरुआती दौर में ये कोचिंग सेंटर्स उत्तर प्रदेश के सभी 18 मंडलों पर खोले जाएंगे और इन कोचिंग संस्थानों में वही लोग पढ़ाएंगे जिन्होंने इन परीक्षाओं को पास करके उत्तर प्रदेश में पोस्टिंग पाई है अर्थात उत्तर प्रदेश में ही कार्यरत अधिकारी है। 

कुछ विशेष विषयों पर निजी क्षेत्र के विशेषज्ञों को भी बुलाया जाएगा। बच्चों की बेहतर सहायता हो सके इसलिए इसके लिए एक ई पोर्टल बनाया गया है। जिस पर ऑफलाइन क्लासेस के साथ साथ ऑनलाइन क्लासेस की भी व्यवस्था होगी और उस पोर्टल पर ऑनलाइन मैटेरियल्स भी दिए जाएंगे। बच्चों की तैयारी सुचारू ढंग से चल सके इसके लिए उन्हें उनके सिलेबस और लास्ट ईयर के क्वेश्चन बैंक भी दिए जाएंगे। इस योजना के तहत बच्चों को टैबलेट अथवा लैपटॉप भी वितरित किया जाएगा। ऐसे लगभग 10 लाख लाभार्थियों को खोजना है, जिन्हें टैबलेट और लैपटॉप दिया जा सके। 

मुख्यमंत्री अभुदय योजना के लिए आवेदन कैसे करें?

आइए समझते हैं कैसे करेंगे इस योजना के लिए आवेदन। इस योजना को आवेदन करने के लिए इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर आपको जाना होगा जो है अभ्युदय डॉट यूपी डॉट जीओवी डॉट इन।

  • जब आप इस वेबसाइट पर जाएंगे आपके सामने एक पेज होगा। उस पेज पर आपको अपनी आईडी क्रिएट करनी होगी और पासवर्ड जनरेट करना होगा। 
  • आईडी पासवर्ड जनरेट करने के पश्चात आपके सामने एक पेज पर ढेर सारी परीक्षाओं के ऑप्शन दिखेंगे।
  • जिस परीक्षा की तैयारी करनी होगी आप उस पर क्लिक करें।
  • उसके बाद एक पेज खुलेगा जिस पर एक फार्म का फार्मेट होगा जिसमें आपको अपनी व्यक्तिगत जानकारियां भरनी होंगी।
  • व्यक्तिगत जानकारियां भरने के पश्चात आपको उस फार्म को सबमिट करना होगा।
  • सबमिट करने के बाद आपका आवेदन स्वीकार कर लिया जाएगा और मैसेज के माध्यम से आपके फोन पर उस परीक्षा से संबंधित सभी जानकारी दे दी जाएगी। 

Direct Links for UP Free Coaching Online Form 2023

UP Mukhyamantri Abhyudaya Yojana RegistrationClick Here
Homepage Click Here
Official WebsiteClick Here
Join Us on TelegramClick Here

मुख्यमंत्री अभुदय योजना के आवेदन करने के लिए कौन – कौन से डॉक्यूमेंट चाहिए?

आइए जानते हैं इसके आवेदन करने के लिए कौन कौन से आवश्यक प्रमाण पत्र होने चाहिए। आवश्यक प्रमाण पत्रों में अभ्यर्थी के पास उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी होने का निवास प्रमाण पत्र होना चाहिए। उसका आधार कार्ड होना चाहिए। उसके आय का प्रमाण पत्र होना चाहिए। उसके आय का प्रमाण पत्र। क्या मतलब यह हुआ उसके परिवारिक आय का प्रमाण पत्र और। उसके पास अपने सभी अंक प्रमाण पत्र भी सबमिट करने होते।

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • निवास प्रामाण पत्र
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज़ फ़ोटोग्राफ़
  • ईमेल आइडी

यूपी मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना हेल्पलाइन नंबर (Helpline Number)

ऊपर दिए गए लेख में, हमने उत्तर प्रदेश में चल रही अभ्युदय योजना के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रस्तुत करने का प्रयास किया है। फिर भी, यदि आपको इस योजना के बारे में अन्य किसी प्रकार की जानकारी चाहिए, तो आप योजना के हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क कर सकते हैं, जिनका विवरण नीचे दिया गया है:

0562-4335347, 7017297767

निष्कर्ष :

अब इस योजना के लाभार्थियों के बारे में अगर बात करें तो यह एक निश्चित ही युगांतकारी योजना साबित हो सकती है क्योंकि यह योजना गरीब युवाओं को खुद को साबित करने का मौका दे सकती है। इस योजना का इस्तेमाल करके कोई भी बच्चा अपने सुनहरे भविष्य का निर्माण कर सकता है। अगर आपको इस योजना से सम्बंधित कोई भी सवाल पूछना है तो आप कमेंट कर के जरूर पूछिए। हमारा यह लेख को पढ़ने के लिए आपका बहुत – बहुत धन्यवाद। 

FAQs:

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना कौन से राज्य में चल रही है?

उत्तर प्रदेश

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना की शुरुआत किसने की?

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना का फायदा किसे मिलेगा?

उत्तर प्रदेश के होनहार विद्यार्थीयों को

अभ्युदय योजना की शुरुआत कब हुई?

10 फरवरी 2021 को

यूपी अभ्युदय योजना के लिए कौन आवेदन कर सकता है?

केवल वे छात्र जो प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं, ही यूपी फ्री कोचिंग योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं। आवेदन केवल ऑनलाइन मान्य है। आवेदक का गरीब परिवार से होना चाहिए। इस योजना का लक्ष्य वे छात्र हैं जिनकी आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में समर्थ नहीं हो सकती।

मुख्यमंत्री निशुल्क कोचिंग योजना क्या है?

इस फ्री कोचिंग योजना के तहत सरकार विद्यार्थियों के पाठ्यक्रम के लिए संपूर्ण कोचिंग शुल्क या निर्धारित कोचिंग शुल्क के लिए सहायता प्रदान करेगी।

1 thought on “UP Mukhyamantri Abhyudaya Yojana | मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना उत्तरप्रदेश 2023, फ्री कोचिंग”

Leave a Comment